महाशिवरात्री सत्य और शक्ति का दिन है शिव सत्य स्वरूप है और माँ आदिशक्ति स्वरूपा हैं

SPOT LIGHT 24

उन्नाव

रिपोर्ट , ब्यूरो उन्नाव प्रमोद सिंह ,

उन्नाव । महाशिवरात्री सत्य और शक्ति का दिन है शिव सत्य स्वरूप है और माँ आदिशक्ति स्वरूपा हैं शिवरात्रि के समान और कोई दूसरा व्रत नहीं है कलियुग में यह व्रत सब पापो का नाश कर मनोकामना पूर्ण करता है।

उक्त विचार विशाल शिव शोभा के संयोजक राजकुमार निगम ने देते हुए बताया कि आगामी महाशिवरात्री पर्व 04 मार्च 2019 को प्रात: 11बजे कमला मैदान उन्नाव से परम्परागत 37 वीं विशाल शिवशोभा यात्रा निकल कर नगर भ्रमण करते हुये सांयकाल 5 बजे श्री झण्डेश्वर महादेव मन्दिर पर समाप्त होगी ।

यात्रा का शुभारंभ पूज्य संतो, जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक एवं विधायक व सांसद आदि के द्वारा गणेश पूजन के साथ झण्डी दिखाकर होगा ।

विशाल शिवशोभा यात्रा में हाथी, घोडे, बैण्ड बाजे, आदि के साथ लगभग 500 विविध भगवान व महापुरूषो की झांकिया रहेगी यात्रा मार्ग में स्थान -स्थान पर स्वागत द्वार बनाये जायेगे पूरे नगर को दुल्हन की तरह सजाया जायेगा शिवभक्तो के द्वारा स्थान स्थान पर भण्डारे व प्याऊ लगाकर बरातियों का भव्य स्वागत किया जायेगा आगामी शिव बारात में आस्था का जन सैलाब उमड़ेगा शिव बारात की तैयारी जोरशोर से चल रही हैं ।

समित द्वारा जिला शासन व प्रशासन द्वारा स्थानीय नगर पालिका परिषद से आग्राह किया गया है कि सुरक्षा की दृष्टि से समुचित पुलिस व्यवस्था करें तथा विगत वर्षो की भांति इस वर्ष भी छोटा चौराहे से आई, बी, पी चौराहे तक 03 मार्च की रात 8 बजे से एकल मार्ग की भी व्यवस्था करें कमला मैदान से आई, बी, पी, चौराह तक यात्रा मार्ग की मरम्मत, सफाई, चूना छिड़काव व सुनिश्चित स्थानो पर पानी की के टैंकरो की परम्परागत रूप से नगर पालिका परिषद द्वारा व्यवस्था की जाये ।

प्रेस वार्ता के दौरान समित द्वारा डा0 प्रेम नारायण श्रीवास्तव मुख्य संरक्षक, गुरुप्रसाद शुक्ल विशिष्ट संरक्षक, हरिओम सिंह प्रमुख संरक्षक को अंग वस्त्र डाल कर सम्मानित किया गया
प्रेस वार्ता में प्रमुख रूप से महन्त दुर्वासानंद सरस्वती धर्माचार्य, राजकुमार निगम संयोजक, हरिओम सिंह प्रमुख संरक्षक, गुरुप्रसाद शुक्र्ल विशिष्ट संरक्षक, वेद प्रकाश श्रीवास्तव, विनोद शर्मा एडवोकेट सह संयोजक, चन्द्रप्रकाश गुप्ता प्रदेश मंत्री, कमलेश शुक्ला, नीरज शुक्ला, विष्णु तिवारी आदि लोग उपस्थिति रहे